Header Ads

कैलेंडर गर्ल्स मूवी सोंग व कास्ट समीक्षा

कैलेंडर गर्ल्स (calendar girls) our रेटिंग – 1.5 स्टार

मधुर भंडारकर जैसे बड़े फ़िल्मकार ने इस बार भी एक फैशन का विषय चुना है, लेकिन इस बार वे सब नए चेहरे लेकर आये है| फिल्म में कोई भी जाना पहचाना चेहरा नहीं है| फैशन की फिल्म की तरह इसमें भी न्यू कमर को कितनी मेहनत करनी पढ़ती है यही सब इसमें भी दिखाया गया है, कैसे वो उस मुकाम तक पहुँचती है और फिर सफलता को हजम नहीं कर पाती और गलत राह पकड़ लेती है| विषय तो पुराना है लेकिन नए तड़के के साथ प्रस्तुत किया गया है|


कैलेंडर गर्ल्स मूवी सोंग व कास्ट समीक्षा
calendar girls movie film song cast samiksha review in hindi


कैलेंडर गर्ल्स मूवी से संबंधित अन्य जानकारी (Calendar Girls Movie Cast Detail) –
कलाकाररूही सिंह, सतपुरा पीने, आकांशा पूरी, क्यारा दत्त, अवनि मोदी, सुहेल सेठ
निर्मातासंगीता अहीर, भंडारकर एंटरटेनमेंट
निर्देशकमधुर भंडारकर
लेखकमधुर भंडारकर
संगीतअमाल मालिक, मीत brothers
रिलीज़ डेट25 सितम्बर 2015

कैलेंडर गर्ल्स मूवी निर्देशक समीक्षा (Calendar Girls Film Director Review)–
डायरेक्टर – मधुर भंडारकर
चांदनी बार, life in metro, कॉर्पोरेट, फैशन, हेरोइन जैसी बड़े बजट व हिट फिल्म देने वाले मधुर की यह सबसे फ्लॉप फिल्म साबित हुई| इतने बड़े फ़िल्मकार से ऐसी फिल्म की उपेक्षा हम नहीं करते है| मधुर ने फिल्म में कास्टिंग को लेकर सबसे गलत निर्णय लिया है, ऐसे नए चेहरे लाये है जिन्हें बीएस बिकनी पहनना आता है, एक्टिंग से तो दूर दूर तक का वास्ता नहीं है| डायलोग बोलते समय लिप्स से सिंक्रोनाइज भी नहीं हो रहा था| मधुर ने अपनी stardum को गवां दिया|
कैलेंडर गर्ल्स फिल्म कहानी की समीक्षा (Calendar Girls Film Samiksha )–
फिल्म की शुरुआत होती है, जिसमें 5 कैलेंडर गर्ल्स की खोज चलती रहती है| 5 लड़कियों को दिखाया जाता है जहाँ वो अलग अलग जगह व फॅमिली से होती है| ये पांच कैलेंडर में लांच हो जाती है और फिर स्टोरी में उनके यही फेम को दिखाया गया है कि कैसे ये बदलाव उनकी ज़िन्दगी बदल देता है| पांचो लड़कियों की अपनी अलग सोच है कोई अमीर है तो कोई नार्मल काम करने वाली है| इसमें से एक पाकिस्तान की भी होती है| एक्स्ट्रा मेकअप, शोर्ट ड्रेस, चीप डायलोग बस यही सब है फिल्म में जो डायरेक्टर मधुर भंडारकर ने दिखाया है|
आधी फिल्म में तो हमें लग रहा था, मधुर भंडारकर अपनी पिछली फिल्म की कॉपी चला रहे है, और दुसरे हाफ में समझ ही नहीं आता चल क्या रहा है| मधुर की so called रीयलिस्टिक फिल्म का ये रूप बिल्कुल अच्छा नहीं लगा|
कैलेंडर गर्ल्स फिल्म कलाकारों की समीक्षा (Calendar Girls Film Cast Review)–
फिल्म की पांचो लडकियों में से कोई ऐसी नहीं जिसकी तारीफ की जाये, आकांशा, अवनि, क्यारा, रूही व सतपुरा सबने कोई खास काम नहीं किया है| देख कर हम ये नहीं बोल सकते कि ये कल एक बड़ी स्टार बनेंगी|
रोहित रॉय फिल्म में फोटोग्राफ़र बने है जिनका छोटा सा रोल है|
सुहेल सेठ विजय माल्या के role में फिट बैठे है, लेकिन ज्यादा काम उन्हें दिया ही नहीं गया|
कैलेंडर गर्ल्स फिल्म फिल्म ओवरआल परफॉरमेंस (Calendar Girls Overall Performance)–
फिल्म एक्टिंग, स्टोरी, संगीत, डायरेक्शन किसी भी रूप में अच्छी नहीं है, कोई भी एक ऐसा पार्ट नहीं है, जो बोला जाये कि देखा जा सकता है| इस type की फ़िल्में कब आकर चली जाती है पता भी नहीं चलता है| 1 हफ्ते भी अगर ये सिनेमाघर में टिक जाये तो बहुत बड़ी बात है|

कोई टिप्पणी नहीं

Blogger द्वारा संचालित.