Header Ads

बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ

देश की जनसंख्या गणना में स्त्री का अनुपात पुरुषों की तुलना में कम हैं यह एक चिंता का विषय हैं जिसके लिए प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने अपनी चौथी बड़ी योजना बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ (Beti Bachao Beti Padhao Yojana) को शुरू किया जिसकी शुरुवात पानीपत हरियाणा से की गई क्यूंकि हरियाणा में स्त्रियों का अनुपात बहुत कम हैं | बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ योजना (Beti Bachao Beti Padhao Yojana) के तहत जिस भी गाँव में पुरुष एवम स्त्रियों का अनुपात बराबर होगा उसे 1 करोड़ का ईनाम दिया जायेगा | 
बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ योजना (Beti Bachao Beti Padhao Yojana) के लिए माधुरी दीक्षित को ब्रांड एम्बेसडर बनाया गया हैं | लोगो को इस दिशा में जागरूक करने के लिए यह अब तक की सबसे बड़ी योजना होने जा रही हैं |


इसके पहले मध्यप्रदेश एवम गुजरात में बेटी बचाओ के नाम से यह अभियान चलाया गया जिसके परिणाम सुखद हैं अब इन दोनों राज्यों में बेटियों की संख्या लगभग 882 प्रति 1000 पुरूषों के बीच आंकी जा रही हैं |

वित्त मंत्री अरुण जेटली ने 2014 के बजट में ही बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ योजना के लिए 100 करोड़ के फंड की बात कही हैं |

बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ योजना के तहत दी जाने वाली सुविधा 
Beti Bachao Beti Padhao Yojana Important Point In Hindi

  1. जनता की जागरूकता हेतु प्रयास : बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ योजना को जनता तक पहुँचाने के लिए रैलियाँ निकाली जाएगी | बेटी भविष्य हैं यह भावना लोगो में जगाने के लिए पोस्टर बनवाये जायेंगे |
  2. विज्ञापन के जरिये प्रचार : सोशल मीडिय, टीवी चैनल में विज्ञापन के जरिये लोगो को बेटी की सुरक्षा और उसकी शिक्षा के लिए लोगो को जागरूक बनाया जायेगा |
  3. बेटी की सुरक्षा : आज के समय में सबसे बड़ी परेशानी बेटी की सुरक्षा की हैं इस दिशा में लड़कियों की सुरक्षा के लिए पब्लिक ट्रांसपोर्ट की सुविधा दी जाएगी | जिसके लिए अभी 50 करोड़ का फंड दिया गया हैं जिसे बढ़ाकर 150 करोड़ कर दिया जायेगा |
  4. अलर्ट बटन : बेटी की सुरक्षा के लिए अलर्ट बटन की सुविधा दी जाएगी जो कि दृश्य, आवाज संदेश एवम टेक्स्ट संदेश पर काम करेंगे |
  5. संकट प्रबंधन केंद्र : दुर्घटना के समय विशेष सुविधा जाएगी जो कि निर्भया कोष द्वारा फंड दिया जायेगा |
  6. छोटे बचत खाते : बेटी के लिए सबसे बड़ी समस्या हैं उसकी शिक्षा और उसकी शादी में आने वाला खर्च जिसे माता पिता बोझ समझते हैं बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ योजना के तहत छोटे बचत खाते खोले जायेंगे | जिससे बेटियों का खर्चा सरकार द्वारा वहन किया जायेगा |
बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ योजना (Beti Bachao Beti Padhao Yojana) की घोषणा 22 जनवरी 2015 को पानीपत हरियाणा में की गई | श्री मोदी ने जनता से बेटी के जीवन के लिए हाथ जोड़कर भीख मांगी हैं | उन्होंने कहा जनता आज इस त्रासदी को समझ नहीं पा रही हैं | लेकिन यह भविष्य की बहुत बड़ी समस्या हैं | मोदी जी के साथ माधुरी दीक्षित और मेनका गाँधी ने भी जनता से इस दिशा में अपनी सोच को बदलने की अपील की हैं|
नरेंद्र मोदी द्वारा यह राष्ट्रव्यापी तौर पर लागू की जाने वाली चौथी योजना हैं | मोदी जी सभी योजनाओं को इस तरह बड़े रूप में ही लागु करते हैं जिससे घर- घर में इसकी चर्चा हो | शायद यह लाइन ठीक बैठती हैं जो दीखता हैं वही बिकता हैं | बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ योजना (Beti Bachao Beti Padhao Yojana) के प्रति जागना देश की बड़ी जरूरतों में से एक हैं |

2 टिप्‍पणियां:

  1. We know that few years ago so many people not aware to the girl child but Know these days they feels glad on the birth of the girl child. Because the government launched Beti Bachao Beti Padhao yojana in which they get so many helps for the girls or womans.

    जवाब देंहटाएं
  2. Beti Bachao Beti Padhao, the multi-senatorial district action schemes have been run in almost every state. Capacity-building programmes and training's have been passed on to trainers to additional reinforcement of capacities of district level representatives and leading edge workers. Nine sets of these training's have been arranged which is covering all States or UTs.
    For more details click here

    जवाब देंहटाएं

Blogger द्वारा संचालित.