Header Ads

हल्दी के गुण फायदे एवम उपयोग

हल्दी एक बहुत आम मसाला है, इसे मसालों की रानी कहा जाता है| इसकी एक अलग तरह की पहचान है इसकी सुगंध अरोमा जैसी, तेज स्वाद व गोल्डन कलर होता है| हमारे भारत देश में यह घर में मुख्य रूप से उपयोग की जाती है, बिना इसके भारतीय खाने की कल्पना भी नहीं की जा सकती| हल्दी में एन्तिबैक्टेरिया, एन्तिफंगल तत्व होते है| इसके अलावा इसमें प्रोटीन, फाइबर, विटामिन सी, विटामिन के, पोटाशियम, कैल्सियम, कॉपर, आयरन, मैग्नीशियम व जिंक होता है| हल्दी स्वाद के अलावा स्वास्थ की द्रष्टि से भी बहुत अच्छी होती है| हल्दी बहुत से रोग व तकलीफ को दूर करती है|


हल्दी के गुण फायदे एवम उपयोग

Haldi ke gun fayde upyog hindi / Turmeric benefits

  1. कैंसर की बीमारी रोके हल्दी – कैंसर एक ऐसी बीमारी है जिसमें शरीर की कुछ कोशिकाएं हमारे शरीर के विपरीत काम करने लगती है| हल्दी का सेवन करने से कैंसर को बढ़ाने वाली कोशिकाएं नष्ट होती है, व हल्दी इन्हें बढ़ने से रोकती है| खाली पेट हल्दी खाने से शरीर के अंदर सारे विषेले पदार्थ निकल जाते है व कैंसर के होने चांस भी बहुत कम हो जाता है|
  2. गठिया रोग में आराम दे – हल्दी में एंटीऑक्सीडेंट प्रॉपर्टीज होती है जो शरीर में फ्री रेडिकल्स को नस्त करती है जो शरीर की दूसरी कोशिकाओं को प्रभावित करते है| रोज हल्दी खाने से गठिया का दर्द में बहुत आराम मिलता है|
  3. कोलेस्ट्रोल कम करे – हल्दी खाने से कोलेस्ट्रोल की मात्रा बहुत हद तक कम होती है| ये हम सब को पता है कि शरीर में अगर कोलेस्ट्रोल बढ़ता है तो अन्य बहुत सी बीमारियाँ भी पीछे पीछे आ जाती है| हल्दी से हम इससे बच सकते है|
  4. प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाये – हल्दी में मौजूद एन्तिबैक्टेरिया, एन्तिफंगल तत्व शरीर में प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाते है| सर्दी खांसी जुखाम फ्लू से ये हमें बचा के रखता है| इसके लिए आपको हल्दी वाला दूध (milk) पीना चाहिए| डॉक्टर भी इसे बहुत फायदेमंद मानते है| 1 गिलास गर्म दूध में 1 चम्मच हल्दी डाल कर पियें| ठण्ड के दिनों में इसे रोज रात को सोने से पहले पीना चाहिए| इससे शरीर में सर्दी तो जाएगी साथ ही छोटे मोटे दर्द से भी आराम मिलेगा|
  5. डायबटीज – हल्दी डायबटीज वालों के लिए फायदेमंद है| इससे शरीर में गुलुकोसे की मात्रा कंट्रोल में रहती है| हल्दी की कैप्सुल भी आती है जिसे डॉक्टर की सलाह के अनुसार लेना चाहिए|
  6. घाव मिटाए – हल्दी कई सालों से एक एंटीसेप्टिक की तरह उपयोग हो रहा है, कही पर भी कटे हुए पर हल्दी लगाने से खून बंद हो जाता है, व वह घाव जल्दी भर जाता है| स्किन में होने वाले इन्फेक्शन को भी हल्दी दूर करता है|
  7. वजन कंट्रोल करे – वजन कम करने के लिए हल्दी बहुत पावरफुल है| हल्दी में मौजूद तत्व शरीर में फैट कम करते है| वजन कम करने के चाह रखने वालो को 1 चम्मच हल्दी अपने खाने में शामिल करना चाहिए|
  8. पाचन सही करे – हल्दी खाने से पाचनतंत्र में कोई परेशानी नहीं आती है, इससे गैस एसिडिटी की भी परेशानी दूर होती है| अगर किसी को गाल्ब्लाडर में कुछ परेशानी है तो उसे हल्दी का सेवन बिल्कुल नहीं करना चाहिए|
  9. लीवर के लिए लाभदायक – हल्दी खाने से खून साफ़ होता है, इससे पेट के सरे विषेले पदार्थ निकल जाते है|
  10. सौदर्य बढ़ाये – हल्दी उपटन हम बचपन से सुनते व उपयोग करते आ रहे है| हल्दी सौदर्य की द्रष्टि से बहुत गुणकारी होती है, इसे लगाने से दाग डब्बे दूर होते है चेहरा खिल उठता है| यही वजह है कि शादी के समय हल्दी की एक अलग से रस्म होती है जिसमें दुल्हन व दुल्हे को हल्दी लगाई जाती है जिससे उनका चेहरा चमक उठे| हल्दी को काफी शुभ भी माना जाता है, इसे हर शुभ काम शादी विवाह पूजा पाठ में उपयोग किया जाता है| हल्दी को बेसन दूध के साथ मिलाकर लगाने से बहुत फायदा मिलता है|
  11. शरीर से अनचाहे बाल हटाये – शरीर में मौजूद अनचाहे बाल चाँद में दाग के सामान है, जिसे हर लड़की अपनी सौन्दर्यता का दुश्मन मानती है, इस परेशानी को दूर करने के लिए हल्दी आपकी मदद करेगी| हल्दी में नारियल तेल मिलाकर गर्म करें अब इसे जहाँ अनचाहे बाल है वहां लगायें| कुछ दिन में आपको फर्क जरुर समझ आएगा|
  12. टैनिंग हटाये – धुप से होने वाली टैनिंग को हम हल्दी के द्वारा दूर कर सकते है| हल्दी को दूध में मिलाकर लगायें, टैनिंग हटेगी व स्किन में निखार आएगा|
  13. दांत का दर्द दूर करे – दांत दर्द को धृ में ठीक करने के लिए हल्दी लाभकारी है| हल्दी में सरसों तेल व नमक मिलाकर दर्द वाले स्थान पर लगायें| बहुत जल्द आराम मिलेगा|
हल्दी को लेने के बहुत तरीके है, इसे आप खाने में मिलाकर, सलाद में, शेक , सूप व कैप्सूल के रूप में ले सकते है| हल्दी से हमें बहुत लाभ मिलते है, इसके बहुत से लाभ मैंने आपको बताये इसके अलावा आप कोई फायदे जानते है तो हमारे साथ शेयर करें|

कोई टिप्पणी नहीं

Blogger द्वारा संचालित.