Header Ads

बवासीर के घरेलु नुस्खे

बवासीर (piles) का घरेलु उपचार बवासीर की बीमारी को पाइल्स भी कहते है, यह कभी भी किसी को भी हो सकती है| विशेषकर ये 50 की उम्र के बाद होती है| बवासीर मल में होने वाली परेशानी है, जो एक खतरनाक बीमारी है जो इन्सान को काफी कष्ट देती है| बवासीर बीमारी 2 तरह की होती है –
  • अंदरूनी – इसमें नस की सुजन दिखाई नहीं पढ़ती लेकिन उसे महसूस किया जा सकता है|
  • बाहरी – इसमें सुजन गुदे से साफ तौर पर दिखाई देती है|
बवासीर में मलद्वार वाली जगह में खून की नसों में सुजन आ जाती है| जिससे इन्सान को नियमित कार्य करने में मुश्किल का सामना करना पड़ता है|

बवासीर के कारण (bawaseer ke karan) 
  • अनियमित दिनचर्या
  • अधिक तेल मसाले व मिर्च वाला खाना
  • पानी कम पीना
  • अनुवांशिक
बवासीर के लक्षण (bawaseer ke lakshan)
  • मलाशय में दर्द
  • शौच के समय खून आना
  • खुजली
  • चक्कर आना
  • थकान
  • भूख ना लगना
  • कब्ज
यह बीमारी होने पर अधिकतर लोग डॉक्टर को दिखाने से कतराते है, शर्म के चलते वो कतराते है और फिर परेशानी बढती चली जाती है| इस परेशानी को हम घर पर आराम से ठीक कर सकते है| मैं आज आपको बवासीर को ठीक करने करने के घरेलु उपचार बताती हूँ|
बवासीर का घरेलु नुस्खे (bawasir ke gharelu nuskhe)
  1. बर्फ – बर्फ बवासीर का पहला व सरल उपाय है| यह खून के स्त्राव को कम कर, सुजन भी कम करता है व दर्द में भी आराम मिलता है|
  • बर्फ को कपड़े में लपेटकर प्रभावित जगह में रखें व 10 min तक सिकाई करें| दिन में कई बार ऐसा करें आराम मिलेगा|
  1. एलोवेरा – एलोवेरा एक नेचुरल तरीका है| एलोवेरा से खुजली जलन कम होती है| यह बहरी व अंदरूनी दोनों तरह की बवासीर को ठीक करता है|
  • एलोवेरा से उसका gel निकालकर प्रभावित एरिया में लगाकर मसाज करें, इससे जलन कम होगी|
  • इसके अलावा एलोवेरा को काट कर फ्रीजर में रखें अब इस ठंडी एलोवेरा से प्रभावित जगह पर सिकाई करें|
  1. नीम्बू का रस – नीम्बू में बहुत सारे पोषक तत्व होते है, जो बवासीर की बीमारी में रहत देता है|
  • कॉटन को नीम्बू के रस में डालें फिर इसे प्रभावित स्थान में लगायें, शुरू में थोड़ी जलन महसूस होगी लेकिन थोड़ी ही देर आपको राहत मिलेगी|
  • इसके अलावा 1 कप गर्म दूध में आधा नीम्बू का रस मिलाएं, और तुरंत पी लें| हर 3 घंटे में ऐसा करें पूरी तरह से आराम मिलेगा|
  • आधी- आधी चम्मच नीम्बू का रस, अदरक का रस, पुदीने का रस व शहद मिलाएं| दिन में 1 बार इसे पियें|
  1. ओलिव आयल – ओलिव आयल एंटीऑक्सीडेंट प्रॉपर्टीज होती है, जो बाहरी बवासीर को ठीक करने में सहायक है| यह सुजन वाली खून की नसों को ठीक करता है, जिससे सुजन कम होती है व खून का संचालन सही होता है|
  • 1 चम्मच ओलिव आयल रोज खाना चाइये, आप इसमें सब्जी बनाकर या सलाद में मिलाकर खा सकते है|
  1. almond आयल – बादाम का तेल भी बाहरी बवासीर में आराम देता है| pure बादाम के तेल में कॉटन भिगो कर प्रभावित जगह में लगायें| ये स्किन को moisture देगा जिससे स्किन में होने वाला खिंचाव खुजली कम होगी| दिन में कई बार ये प्रक्रिया दोहराएँ|
  2. जीरा  आधा चम्मच भुना पीसा हुआ जीरा को 1 ग्लास गुनगुने पानी में डाल कर दिन में 2-3 बार पियें|
इसके अलावा छाछ में भी जीरा मिला कर पी सकते है| दिन में जितनी बार प्यार लगे पानी की जगह छाछ पियें| 3-4 दिन में खून की नसों में सुजन कम हो जाएगी और बवासीर से आराम मिलेगा|
  1. गुठली – जामुन व आम की गुठली को सुखाकर पीस लें, अब इस चूर्ण को छाछ या गुनगुने पानी के साथ 1 चम्मच लें|
  2. किशमिश  मुट्ठी भर किशमिश को पानी में रात भर भिगोयें| अगले दिन सुबह किशमिश को पानी में मसल लें अब खली पेट इसे खाएं| रोजाना ऐसा करें कुछ दिन में ही आराम मिलेगा|
  3. दालचीनी  आधी चम्मच से भी कम दालचीनी के पाउडर को चम्मच शहद में मिलाएं व रोज एक बार लें| आराम मिलेगा|
  4. अन्य उपाय 
  • बवासीर से बचने के लिए जितना हो सकते तरल पदार्थ ले, पानी तो दिन में 8-10 ग्लास जरुर पियें|
  • ताजे फल व उसका जूस पियें|
  • ताज़ी रेशेदार सब्जियां खाएं, सूप पियें|
  • फाइबर युक्त खाना अधिक से अधिक लें|
  • तेल व मसाले वाला खाना बिल्कुल ना खाएं|
  • अंजीर, खजूर फाइबर युक्त मेवे रोज सुबह खाया करें|
बवासीर के लक्षण होने पर आप ये नुस्खे अपनाएं| ये आपको जल्द आराम देंगे| अगर आपकी तकलीफ ठीक नहीं हो रही है आप डॉक्टर के पास जाने से ना कतराएँ| डॉक्टर आपको सही दवा व तरीका बताएगा| आपके उपर ये घरेलु नुस्खे कितने कारीगर हुए हमें जरुर शेयर करें|

कोई टिप्पणी नहीं

Blogger द्वारा संचालित.