Header Ads

बजरंगी भाई जान समीक्षा

आज बजरंगी भाईजान दर्शकों के सामने आ गई, सलमान हमेशा की तरह इस बार भी सबके लिए ईद पर ईदी लेकर आये है| सलमान की फिल्म समीक्षा से परे होती है| सलमान की फिल्मों में बस सलमान नाम काफी है| सलमान की फिल्म देखने जाने से पहले कोई उनकी फिल्म के रिव्यु नहीं जानना चाहता| सलमान भाई की एक अलग फैन following है जो बस भाई को बड़े परदे पर देखना चाहती है| वांटेड के बाद से सलमान ने पीछे मुड़ कर नहीं देखा और इसके बाद से उनकी हर फिल्म 100 cr का आकड़ा पार करती आई है| सलमान हर बार अपनी पिछली फिल्म का रिकॉर्ड तोड़ देते है| पहली बार 100 cr क्लब को सेट करने वाले सलमान खान ही है|फिल्म – बजरंगी भाईजान


कलाकार – सलमान खान, करीना कपूर, नवाज़ुद्दीन सिद्दकी , हर्शाली मल्होत्रा , दीप्ति नवल, अली कुली मिर्जा
लेखक – विजयेन्द्र प्रसाद , असद हुसैन , परवीज शेख
निर्माता – कबीर खान, सलमान खान, सुनील लुल्ला , राजेश भट्ट
संगीत – प्रीतम
सिनेमेटोग्राफी – असीम मिश्र
निर्देशक – कबीर खान
रिलीज़ तारीख – 17 जुलाई
deepawali रेटिंग – 3.5 स्टार
बजरंगी भाईजान फिल्म की सबसे अच्छी बात यह है कि ये फिल्म बॉडीगार्ड, रेडी जितनी दर्दनाक और झिलाऊ नहीं है| सलमान खान ने जय हो से एक थीम सेट कर ली है, अब उनकी हर फिल्म एक मैसज देती है| जय हो में सलमान आम आदमी के रूप में सबके सामने आये थे, किक में उन्होंने इस image को आगे बढाया और अब बजरंगी भाई जान में उस image को पूरा कर दिया है| सलमान की अपनी एक style है जो वे ही कर सकते है, दूसरा कोई और इस किरदार को इतने अच्छे से नहीं कर सकता है| 
Bajrangi bhaijaan review in hindi  फिल्म में सलमान एक आम आदमी पवन कुमार चतुर्वेदी बने है जो उत्तर प्रदेश में रहता है और हर पल दूसरों की मदद के लिए तैयार रहते है| पवन (सलमान खान) हनुमान जी के बहुत बड़े भक्त रहते है| वे रास्ते पर अगर कोई बंदर दिख जाये तो उसे भी झुक कर प्रणाम करते है| पवन का मन पढाई में बिल्कुल नहीं लगता है, वह बहुत सीधा साधा और सबकी बात मानने वाला है| पवन के पिता चाहते है वो कुश्ती लढ़े, लेकिन इसमें भी सलमान का मन नहीं लगता है| इसके बाद उसके पिता काम की तलाश में उसे दिल्ली भेज देते है , जहाँ उसकी मुलाकात रसिका (करीना कपूर) से होती है| रसिका के पिता दिगम्बर ( शरत सक्सेना) एक ब्राह्मण हो काफी सक्त इन्सान होते है| यहाँ पवन और रसिका के बीच प्रेम होता है| इसके साथ ही कहानी आगे बदती है और फिर पवन हनुमान जी का भक्त है उनके हर कार्यक्रम में जाता और सिर्फ उनकी पूजा पथ में लगा रहता| पवन हनुमान जी के एक कार्यक्रम के लिए कुरुछेत्र जाता है, जहाँ उसकी मुलाकात एक छोटी बच्ची (हर्षिता) से होती है| कुछ समय बाद सलमान को पता चलता है कि यह बच्ची बोल नहीं सकती और वह पाकिस्तान से है जो अपने माँ बाप से अलग हो गई है और धोखे से भारत आ गई है|
अब सलमान इस छोटी बच्ची को उसके माँ बाप से मिलवाने में जुट जाते है| इस बीच उसे बहुत सी मुसीबतों का सामना करना पड़ता है, पवन के पास पासपोर्ट नहीं होता, वह कभी झूट नहीं बोलता और वह शाकाहारी है| पवन उस बच्ची को प्यार से मुन्नी बोलता है| सलमान पवन का किरदार बहुत अच्छे ने निभाते हुए दिखे है| वे बहुत इनोसेंट और प्यारे लगे है|  पवन मुन्नी को लेकर पाकिस्तान जाते है जहाँ उनकी मुलाकात पाकिस्तान के एक छोटे  से tv रिपोर्टर चाँद नवाब (नवाज़ुद्दीन सिद्दकी )   से होती है| किस तरह पवन एक बूंगी, अनपढ़ लड़की को उसके माँ बाप से पाकिस्तान में मिलाता है, यह देखना बहुत दिलचस्प होगा|
भारत पाकिस्तान को एक दुसरे का बहुत बड़ा विरोधी कहा जाता है| पाकिस्तान को हमारा दुश्मन देश कहते है| लेकिन इन सब बातों से परे बजरंगी भाईजान इस दुश्मनी का एक अलग रूप दिखा रही है| फिल्म में  देशभक्ति और एक दुसरे देश के विरुद्ध नारे जैसे शब्द नहीं सुनाइ पड़ेंगे| यह फिल्म भारत पाकिस्तान के अच्छे रिश्तों पर बनी फिल्म की सूची में शामिल हो गई है, जो शायद बहुत से लोगों की सोच को बदल दे और हिन्दू मुस्लिम भाई चारा को बढ़ाये|
नवाज़ुद्दीन सिद्दकी की एक्टिंग इस फिल्म में भी देखने लायक है, सामान्य से दिखने वाले सिद्दकी एक बहुत अच्छे अभिनेता के रूप में उभरे है जिनकी एक्टिंग का बोलबाला भारत के अलावा बहरी देखो में भी है| नवाज़ुद्दीन सिद्दकी एक ऐसे अभिनेता जिन्होंने cannes फिल्म फेस्टिवल में भारत का प्रतिनिधित्व किया था| कबीर खान ने सलमान खान के stardum का बहुत चतुराई से इस्तेमाल किया है|  वे अपनी फिल्म एक था टाइगर की सफतला को फिर दुहराते नजर आ रहे है| ऐसा लगता है है सलमान की उम्र बढ़ने की बजाये घट रही है,  फिल्म में उनके किरदार को देखकर उनकी सही उम्र का पता लगा पाना मुश्किल है| करीना कपूर बहुत सुंदर लगी है लेकिन उनको अपनी एक्टिंग दिखाने का ज्यादा मौका नहीं मिला| हर्शाली एक छोटा पैकेट बड़ा धमाल करते नजर आई है, उनकी cuteness और एक्टिंग आप सबको आश्चर्यचकित कर देगी और आप उस छोटी सी बच्ची की एक्टिंग के कायल हो जायेंग , आप उससे प्यार कर बैठेंगे|
Bajrangi bhaijaan review in hindi  फिल्म की कहानी अच्छी है जो आपको शुरुवात से अंत तक बांधे रखेगी| यह फिल्म की बहुत बड़ी ताकत है|  वैसे तो फिल्म में मुख्य किरदार सलमान खान का है, लेकिन सलमान खुद कहते है कि मुख्य किरदार मेरा नहीं हर्शाली का है, वो ना होती तो फिल्म नहीं बनती| बजरंगी भाईजान पूरी तरह से सलमान की फिल्म है जिसमे अच्छे गाने, दमदार dialodge, मजेदार सीन और सलमान style का एक्शन देखने को मिलेगा| यह पूरी तरह से मनोरंजक फिल्म है जिसे आप अपने पुरे परिवार के साथ ख़ुशी ख़ुशी देख सकते है| पिछली फिल्मों की तरह यह फिल्म भी सलमान के पुराने रिकॉर्ड तोड़ नए रीकार्ड सेट करने को तैयार है| वैसे पिछले हफ्ते रिलीज़ हुई फिल्म बाहुबली की सफलता सलमान की फिल्म बजरंगी भाईजान के आढे आ सकती है| फिल्म को दक्षिण में स्क्रीन ही नहीं मिल रहे है, जिससे कही ना कही फिल्म को असर तो जरुर पड़ेगा|

Bajrangi Bhaijaan Box Office Collection 

बजरंगी भाईजान बॉक्स लास्ट फाइव डेज़ ऑफिस कलेक्शन

SNDayDateDayCollection
11st17 जुलाईशुक्रवार27.25 cr
22nd18 जुलाईशनिवार36.60 cr
33rd19 जुलाईरविवार38.75 cr
44th20 जुलाईसोमवार27.05 cr
55th21 जुलाईमंगलवार21.40 cr
Bajrangi Bhaijaan Total Box Office Collection151.05 cr
Bajrangi bhaijaan review in hindi आपको यह फिल्म कैसी लगी हमारे कमेंट बॉक्स पर जाकर अपने सुझाव शेयर करें|

कोई टिप्पणी नहीं

Blogger द्वारा संचालित.