Header Ads

​ 22 साल के लड़के ने पकड़ी नरेन्द्र मोदी ऐप की 'बड़ी' खामी


एक ओर जहां केन्द्र की नरेन्द्र मोदी सरकार डिजिटल इंडिया के सपने देख रही है वहीं दूसरी ओर 22 साल के युवा डिवेलपर ने नरेन्द्र मोदी के ऑफिशल ऐप में कई सुरक्षा खामियां बताते हुए दावा किया कि वह इस ऐप को हैक कर सकता है। युवक ने दावा किया कि इस सुरक्षा खामीकी वजह से सात लाख यूजर्स की जानकारी सार्वजनिक होने का खतरा था। हालांकि बाद में जावेद नामक इस युवक ने ट्वीट किया कि ऐप से जुड़ी खामियों को पूरी तरह से ठीक कर दिया गया है।


योर स्टोरी नामक वेबसाइट की खबर के मुताबिक, जावेद ने कहा कि नरेन्द्र मोदी ऐप की सिक्यॉरिटी ऐसी नहीं थी जो क‍ि उन यूजर्स के डाटा की रक्षा कर सके जि‍न्‍होंने यह ऐप डाउनलोड और इंस्‍टॉल कि‍या है। जावेद ने यह भी कहा क‍ि इसके पीछे उनकी कोई दुर्भावनापूर्ण मंशा नहीं थी और वह केवल ऐप को मैनेज करने वाली टीम के सामने ऐप्‍ल‍िकेशन के जोखि‍म उजागर करना चाहते थे। इस बारे में योर स्टोरी वेबसाइट को बीजेपी के सूचना एवं तकनीकी के राष्ट्रीय संयोजक अमित मालवीय ने बताया, 'इस ऐप में कोई निजी या संवेदनशील डेटा नहीं है। ऐप यूजर की जानकारी ऐनक्रिप्टेड मोड पर होती है। हम जावेद खत्री को धन्यवाद देना चाहते हैं कि डिवेलपर ने ऐप की सुरक्षा पर बहुत ध्यान दिया है।'


Everything has been fixed by the app team. I am in touch with them. We had a good discussion regarding that. Would like to thank IT team
Also let me clarify that I did not hack exactly, made a few suggestions which were later clarified to me. @PrabhuChawla@kavereeb
वहीं जावेद ने भी ऐप को मैनेज करने वाली टीम को धन्यवाद देते हुए ट्वीट किया, 'सभी खामियों को दुरुस्त कर दिया गया है। मैं उनके साथ संपर्क में हूं।' जावेद ने यह भी कहा कि उन्होंने नरेन्द्र मोदी ऐप को हैक नहीं किया था बल्कि वह सुरक्षा की दृष्टि से कुछ विषयों की ओर ध्यान आकर्षित करवाना चाहते थे।

आपको बता दें कि यह भारत सरकार का आधि‍कार‍िक ऐप नहीं है। इसे नरेन्द्र मोदी की एक स्पेशल टीम मैनेज करती है। जावेद खत्री एक ऐप डिवेलपर हैं और मुंबई के घाटकोपर में काम करते हैं।

कोई टिप्पणी नहीं

Blogger द्वारा संचालित.