Header Ads

#SwachhSurvekshan2017 देश का सबसे साफ शहर बना इंदौर, यूपी का गोंडा गंदगी में आगे



इस साल के स्वच्छता सर्वेक्षण के नतीजों से पता चला है कि सफाई के मामले में देश के कई शहरों में बड़ा उलटफेर हुआ है। इस बार मध्य प्रदेश का इंदौर पहले नंबर पर और भोपाल दूसरे नंबर पर रहा है, जबकि तीसरा नंबर विशाखापट्टनम का आया है।

इस लिस्ट में सूरत को चौथा स्थान मिला है जबकि पिछली बार टॉप पर रहने वाला मैसूर शहर इस बार पांचवें नंबर पर खिसक गया है। दिल्ली का एनडीएमसी भी सफाई के मामले में पिछले साल के चौथे नंबर से फिसलकर सातवें नंबर पर पहुंच गया है। इस बार कुल 434 शहरों ने स्वच्छता सर्वेक्षण में हिस्सा लिया था।

सफाई के मामले में टॉप पर रहने वाले 50 शहरों में गुजरात के 12 और मध्य प्रदेश के 11 शहर हैं। वहीं, इस लिस्ट में महाराष्ट्र के तीन और तमिलनाडु के चार शहर हैं। दिल्ली का एनडीएमसी इलाका भी टॉप फिफ्टी में है लेकिन दिल्ली के बाकी तीनों नगर निगम टॉप 50 तो क्या टॉप 100 में भी जगह नहीं बना सके।

यूपी का भी महज एक ही शहर वाराणसी ही इस लिस्ट में टॉप फिफ्टी में रहा है। बिहार, राजस्थान और पंजाब का कोई भी शहर इतना साफ नहीं पाया गया कि वह टॉप फिफ्टी में हो। हरियाणा का भी कोई शहर टॉप फिफ्टी में जगह नहीं पा सका है।

सबसे फिसड्डी शहर
सफाई के मामले में सबसे फिसड्डी शहर यूपी का गोंडा है। 434 शहरों के सर्वे में उसका सबसे आखिरी नंबर है। उससे ऊपर 433 नंबर पर महाराष्ट्र का भुसावल शहर है। उसके बाद बिहार का बगहा, उत्तराखंड का हरदोई, बिहार का कटिहार, यूपी का बहराइच, पंजाब का मुक्तसर, अबोहर, यूपी का शाहजहांपुर और खुर्जा हैं।
लिस्ट में सबसे नीचे के 50 शहरों में से 25 अकेले यूपी से हैं जबकि बिहार से नौ, राजस्थान, पंजाब से पांच-पांच शहर हैं।

दिल्ली को भी झटका
दिल्ली का एनडीएमसी इलाका सफाई व्यवस्था में पिछले साल से भी पिछड़ गया है। वह पिछले साल चौथे नंबर पर था लेकिन इस बार वह सातवें नंबर पर फिसल गया है। दिल्ली छावनी बोर्ड 172वें नंबर पर आया है। ईस्ट एमसीडी का 434 शहरों की लिस्ट में 196वां नंबर है। इसी तरह से साउथ एमसीडी 202वें नंबर पर रही है जबकि नार्थ एमसीडी सफाई के मामले में 279वें नंबर पर रही है।

एनसीआर के शहरों में करनाल 65वें और फरीदाबाद 88 वें नंबर पर रहा है जबकि गुरुग्राम 112वें नंबर पर है। इन तीन शहरों के अलावा हरियाणा के बाकी 15 शहरों में से कोई भी टॉप 200 में भी शामिल नहीं हो सका। इसी तरह से यूपी का गाजियाबाद तो टॉप 300 में भी नहीं आया। उसे 351वां नंबर मिला है।

स्वच्छ्ता सर्वेक्षण में ये हैं टॉप टेन शहर
1. इंदौर
2. भोपाल
3. विशाखापत्तनम
4. सूरत
5. मैसूर
6. तिरुचिरापल्ली
7. नई दिल्ली नगर पालिका परिषद
8. नवी मुंबई
9. तिरुपति
10. वड़ोदरा




Swachh Survekshan Rankings
Rank2017 Survey2016 Survey
1IndoreMysuru
2BhopalChandigarh
3VisakhapatnamTiruchirapalli
4SuratNew Delhi
5MysuruVisakhapatnam
6TiruchirapalliSurat
7New DelhiRajkot
8Navi MumbaiGangtok
9TirupatiPimpri-Chinchwad
10VadodaraMumbai
11ChandigarhPune
12UjjainNavi Mumbai
13PuneVadodara
14AhmedabadAhmedabad
15AmbikapurImphal
16CoimbatorePanaji
17KhargoneThane
18RajkotCoimbatore
19VijaywadaHyderabad
20GandhinagarNagpur
21JabalpurBhopal
22HyderabadAllahabad
23SagarVijayawada
24Murwara (Katni)Bhubaneshwar
25NavsariIndore
26VapiMadurai
27GwaliorShimla
28WarangalLucknow
29MumbaiJaipur
30SuryapetGwalior

कोई टिप्पणी नहीं

Blogger द्वारा संचालित.