Header Ads

पेट में कीड़े होने का कारण लक्षण और उपचार

Pet me kide ka lakshan gharelu upchar in hindi पेट में कीड़े होना एक बहुत आम बात है, इसकी शिकायत बच्चों बड़ो सभी को होती है. गड़बड़ खान पान से पेट में कीड़े होते है, बच्चों में खासतौर पर इसकी शिकायत होती है. गंदे हाथों से खाना, मिट्टी, पेन्सिल खाने से ये बच्चों में हो जाते है, जिसके बाद उन्हें पेट दर्द, सुजन की शिकायत हो जाती है.
पेट में कीड़े होने का कारण लक्षण और घरेलू उपचार

Pet me kide ka lakshan gharelu upchar in hindi

पेट में कीड़े होने के कारण (Pet me keede hone ke karan)–
  • खाने में साफ सफाई का ध्यान ना रखना
  • परजीवी खाने या पानी के द्वारा शरीर में प्रवेश करते है.
  • आसपास गन्दगी, मच्छरों का होना
  • कमजोर प्रतिरक्षा प्रणाली

पेट के कीड़े होने का घरेलू इलाज (Pet ke kide ka gharelu ilaj)-

1पेट दर्द
2गैस, एसिडिटी
3डायरिया
4सांस लेने में तकलीफ
5पेट में सुजन
6खाने में अरुचि
7नींद नहीं आना
8कमजोरी
9वजन कम होना
10एनीमिया
11सर दर्द
12बुखार
13पैरों में दर्द
14नींद में दांत पीसना
15होंठ सफ़ेद होना
16शरीर का रंग काला होना
17चेहरे पर सफ़ेद दाग आना

पेट के कीड़े होने का घरेलू इलाज (Pet ke kide ka gharelu ilaj)-
पेट में कीड़े को ख़त्म करने के बहुत से घरेलु उपचार होते है. इनमे से हम आपके साथ कुछ यहाँ साँझा कर रहे हैं.
  1. नारियल – नारियल आंत के कीड़ो को ख़त्म करने में बहुत असरदार है. परजीवी को नाश करने में ये बहुत अच्छा होता है. नारियल का तेल व् उसका फल दोनों ही पेट के कीड़े को नाश करता था.
  • 1 चम्मच नारियल को किस कर रोज सुबह नाश्ते में खाएं. इसके तीन घंटे बाद 1 ग्लास गुनगुने दूध में 2 चम्मच कास्टर आयल मिला कर पिए. ऐसा तब तक करें जब तक इन्फेक्शन खत्म न हो जाये. कास्टर आयल गैस की परेशानी व् 5 साल से कम उम्र के बच्चों को नहीं देना चाहिए.
  • इसके अलावा 4-5 चम्मच रिफाइंड नारियल तेल का सेवन रोज करें. इससे आपके शरीर में प्रतिरोधक क्षमता भी बढ़ेगी.
  1. लहसुन – लहसुन एक प्रसिध्य परजीवी विरोधी पदार्थ है, जो पेट में मौजूद किसी भी तरह के कीड़ो को नष्ट करने की ताकत रखता है. लहसुन की कली में सल्फर के साथ अमीनो एसिड भी होता है, इसमें एंटीसेप्टिक, एंटीफंगल व् एंटीबैक्टीरियल प्रॉपर्टीज होती है.
  • खाली पेट रोज सुबह 2-3 लहसुन की कलियाँ चबाचबा कर खाएं. ऐसा एक हफ्ते तक रोजाना करें, ये सबसे आसान तरीका है सभी तरह के पेट के कीड़े ख़त्म करने का.
  • इसके अलावा ½ कप दूध में 1-2 लहसुन की कलि को मसल कर डालें, व् उबालें अब इसे खाली पेट पी लें. इसे भी 1 हफ्ते तक करें.
  • आप लहसुन की चटनी बनाकर उसमें सेंदा नमक मिलाकर भी खा सकते है.
  1. पपीता – आयुर्वेद की द्रष्टि से पपीता बहुत ही फायदे मंद होता है. इसका पल्प व् बीज दोनों ही दवाई के तौर पर इस्तेमाल किये जाते है.
  • 1 बड़े चम्मच पपीता के पल्प को अच्छे से मसल ले, अब इसमें शहद व् 2-3 चम्मच गर्म पानी डालें, सबको अच्छे से मिलाकर सुबह खाली पेट पियें. इसके 2 घंटे के बाद गुनगुने दूध में कास्टर आयल मिलाकर इसे भी पियें. 2-3 दिन तक इसे रोज दोहराएँ. अगर किसी बच्चे को आप ये दे रहे है तो इसकी मात्रा को हाफ कर लें.
  • आप पपीते के बीज को सुखाकर उसे पीस लें, जिससे वो पाउडर बन जायेगा. अब 2 tbsp इस पाउडर को 1 कप दूध या पानी के साथ मिलाएं. 3 दिन तक इसे सबसे पहले उठते साथ ही पियें.
  • इसके अलावा आप पपीते के बीज को पीस कर एक पेस्ट बना लें, अब इसमें 1 tbsp नारियल तेल, 1 कप नारियल का दूध व् कुछ स्लाइस पपीते के काट कर मिलाएं. अब इसे एक बार फिर से मिक्सर में पीस लें. अंत में 1 चम्मच शहद मिलाकर एक बार फिर से मिक्स करें. इसे रोज सुबह 1 हफ्ते तक पियें.

कोई टिप्पणी नहीं

Blogger द्वारा संचालित.