Header Ads

11 दिन से अनशन पर बैठी स्वाति से मिलते ही रो पड़े निर्भया के माता-पिता, कही ये बात

इसे विडंबना कहें या कुछ और कि देश में दुष्कर्म और दरिंदगी करने वाले जो दोषी तत्काल फांसी पर लटका दिये जाने चाहिये, वह आए दिन नए-नए कानून का हवाला देकर अब तक बचते जा रहे हैं। मेरी बेटी को उन दरिंदों ने मार डाला।

कोई टिप्पणी नहीं

Blogger द्वारा संचालित.