Header Ads

Nirbhaya Case: आखिरी बार पिता से मिला दोषी विनय, बोला-पापा एक बार गले तो लगा लो...

...जब जेल कर्मी ने आवाज लगाई कि विनय तुमसे कोई मिलने आया है। अपने सेल में फर्श पर एकांत में बैठा विनय लड़खड़ाते कदम से जेल कर्मी के साथ विजिटर रूम पहुंचता है। पिता को सामने देखते ही वह रो पड़ता है और यही हाल उसके पिता का भी है।

कोई टिप्पणी नहीं

Blogger द्वारा संचालित.